Yaara Re Lyrics - Roy | K K

Yaara Re Lyrics (Kyun Faaslon Mein Bhi Tu) from the album Roy - 2015, sung by K K.


Ajnabi kahe ki apna kahe
Ab kya kahe, kya na kahe
Ajnabi kahe ki apna kahe
Ab kya kahe, kya na kahe
Ishare bhi chup hai, zubaan khamosh hai
Sada gum-gum si hai, tanha aagosh hai
Yaara re, yaara re
Kyun faaslon mein bhi tu yaara re
Yaara re, yaara re
Kyun faaslon mein bhi tu yaara re

Tu choot kar, kyun choota nahi
Kuch toh juda hai abhi
Main toot kar, kyun toota nahi
Jene mein Hai tu hai kahin
Ishare bhi chup hai, zubaan khamosh hai
Sada gum-gum si hai, tanha aagosh hai
Yaara re, yaara re
Kyun faaslon mein bhi tu yaara re
Yaara re, yaara re
Kyun faaslon mein bhi tu yaara re

Hai har ghadi, woh tishnagi,
Jo ek pal bhi, na bujhi
Hai zindagi chalti huyi,
Par ye zindagi hi nahi
Ishare bhi chup hai, zubaan khamosh hai
Sada gum-gum si hai, tanha aagosh hai
Yaara re, yaara re
Kyun faaslon mein bhi tu yaara re
Yaara re, yaara re
Kyun faaslon mein bhi tu yaara re







Yaara Re Lyrics Translation In Hindi

अजनबी कहे की अपना कहे।
अब क्या कहे, क्या न कहे।
अजनबी कहे की अपना कहे।
अब क्या कहे, क्या न कहे।
इशारे भी चुप है, ज़ुबाँ खामोश है।
सदा गम-सुम सी है, तनहा आग़ोश है।
यारा रे, यारा रे
क्यों फासलों में भी तू यारा रे।
यारा रे, यारा रे
क्यों फासलों में भी तू यारा रे।
तू छूट कर, क्यों छूटा नहीं।
कुछ तो जुदा है अभी।
मैं टूट कर, क्यों टूटा नहीं।
जीने में तू है कहीं।
इशारे भी चुप है, ज़ुबाँ खामोश है।
सदा गम-सुम सी है, तनहा आग़ोश है।
यारा रे, यारा रे
क्यों फासलों में भी तू यारा रे।
यारा रे, यारा रे
क्यों फासलों में भी तू यारा रे।
है हर घडी, वो तिश्नगी
जो एक पल भी न बुझी।
है ज़िन्दगी चलती हुई
पर ये ज़िन्दगी ही नहीं।
इशारे भी चुप है, ज़ुबाँ खामोश है।
सदा गम-सुम सी है, तनहा आग़ोश है।
यारा रे, यारा रे
क्यों फासलों में भी तू यारा रे।
यारा रे, यारा रे
क्यों फासलों में भी तू यारा रे।
Previous
Next Post »
Thanks for your comment